बिहार-झारखंड के बीच अब 160 की रफ्तार से दौड़ेगी ट्रेनें, रेलवे ने बनाया ये प्लान, जानें

0
194

[ad_1]

डेस्क: अब बिहार और झारखंड के बीच ट्रेनों की रफ्तार थोड़ी बढ़ेगी, क्योंकि रेलवे ने एक बड़ा फैसला लिया है. रेलवे के मुताबिक झारखंड से बिहार तक फैली रेलवे लाइन के दोनों ओर करीब 200 किमी (किमी) ऊंची दीवार खड़ी होगी. यह योजना रेलवे ने 3 साल पहले बनाई थी। इसके लिए रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग ने जमीन की नाप-जोख के साथ ही पिलर बनाने का काम शुरू कर दिया है.

बता दें कि झारखंड में वासेपुर से पंडरपाल तक रेलवे लाइन के दोनों ओर घनी आबादी है. ऐसे में इंजीनियरिंग विभाग की ओर से की गई जमीन की माप में पता चला है कि रेलवे की जमीन पर करीब 75 से 80 मकान, दुकानें और मकान बन गए हैं. ऐसे सभी लोगों को नोटिस भेजा जा चुका है. इसके बाद भी जमीन खाली नहीं हुई तो रेलवे आरपीएफ की तैनाती के बीच कार्रवाई शुरू करेगा।

अब आप सोच रहे होंगे कि रेलवे ने ऐसा प्लान क्यों तैयार किया? दीवारों का निर्माण क्यों किया जाएगा? तो आपको बता दें कि हावड़ा से नई दिल्ली के लिए ट्रेनों की रफ्तार 130 किमी प्रति घंटे (किमी/घंटा) रही है। अगले 1-2 वर्षों में इस रूट पर ट्रेनों की अधिकतम गति 160 किमी प्रति घंटे हो जाएगी। धनबाद रेल मंडल में प्रधानखंता से बंधुआ तक 200 किमी रेल मार्ग पर 160 किमी की रफ्तार से ट्रेनें चलेंगी। ट्रेनों की रफ्तार बढ़ने के साथ ही रेलवे ट्रैक की सुरक्षा करना जरूरी है ताकि दुर्घटना रहित ट्रेनें चलाई जा सकें. यही कारण है कि इस पूरे रेल मार्ग पर पटरी के दोनों ओर दीवार खड़ी की जाएगी।

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here