मई 2022 से गांधी सेतु की पूर्वी लेन पर सरपट दौड़ सकेगी कार, सड़क निर्माण मंत्री बोले- देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी

0
199

[ad_1]

समाचार डेस्क: सड़क निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने प्रदेश में कई महत्वपूर्ण मेगा ब्रिज-पुलिया एवं सड़क परियोजनाओं की समीक्षा की। कल विभागीय सभागार में अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत सहित कई अन्य अधिकारियों की उपस्थिति में मंत्री ने आठ प्रमुख परियोजनाओं की समीक्षा करते हुए वहां मौजूद सभी अधिकारियों को इन परियोजनाओं में तेजी लाने के निर्देश दिये.

मंत्री नितिन नवीन ने सबसे महत्वपूर्ण परियोजनाओं में से एक को किसी भी कीमत पर महात्मा गांधी सेतु के जीर्णोद्धार का काम 15 मई 2022 तक पूरा करने को कहा। उन्होंने यहां तक ​​सख्ती से कहा कि एजेंसी को इस अवधि में कोई विस्तार नहीं दिया जाएगा। ज्ञात हो कि उत्तर बिहार के लिए यह परियोजना जीवनदान के समान है। इस ब्रिज की वजह से सबसे ज्यादा ट्रैफिक जाम पटना में होता है. इसलिए इसकी तैयारी बेहद जरूरी है।

उनका आगे कहना है कि देरी को किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वहीं गांधी सेतु के समानांतर बनने वाले नए पुल के अक्टूबर 2024 में बनकर तैयार होने की बात कही गई थी। लेकिन फिलहाल निर्माण कार्य धीमी गति से चल रहा है। उन्होंने एजेंसी को क्रैश प्रोग्राम तैयार करने का निर्देश दिया कि इसे मार्च 2024 तक पूरा कर लिया जाए। मंत्री ने एनएच 106 वीरपुर-बिहपुर पर बन रहे फुलौत पुल की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त की। इस ब्रिज पर अभी काम शुरू नहीं हुआ है। एजेंसी को जनवरी के पहले सप्ताह में काम शुरू करने को कहा गया था। साथ ही विक्रमशिला सेतु में टेंडर के निष्पादन में तेजी लाने को कहा।

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here