राजगीर में 1300 करोड़ की लागत से बनेगी शानदार एलिवेटेड रोड, नीचे रहेगा जंगल, बनेगी सड़क, जानिए-

0
110

[ad_1]

डेस्क: वैसे तो बिहार के कई इलाकों में सड़क परियोजना का काम चल रहा है, लेकिन इसी बीच बिहार में एक ऐसी एलिवेटेड रोड बनने जा रही है जिसे जानने के बाद आप भी कहेंगे कि क्या ये सड़क वाकई बिहार में है. अंतरराष्ट्रीय पर्यटन नगरी राजगीर में कुछ ऐसी सड़क बन रही है, जहां नीचे घना जंगल होगा और ऊपर से एलिवेटेड रोड बनाई जाएगी, तो आइए हम आपको विस्तार से बताते हैं..

जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि जल्द ही यह फोर लेन एलिवेटेड कॉरिडोर एक सौगात बनने जा रहा है। इसका निर्माण जल्द शुरू होने जा रहा है, जिसके लिए केंद्र सरकार के परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने अपनी मंजूरी दे दी है। करीब 13 सौ करोड़ की लागत से बन रहे इस कॉरिडोर की कुल लंबाई 8.7 किलोमीटर (किमी) है। इस एलिवेटेड कॉरिडोर रोड पर रोपवे के पास लैंडिंग और क्लाइंबिंग के लिए रैंप भी बनाया जाएगा। राजगीर वन क्षेत्र से गुजरने वाली इस एलिवेटेड रोड से लोग हरे भरे जंगलों का भी नजारा ले सकेंगे। आपको बता दें कि इस फोर लेन एलिवेटेड कॉरिडोर रोड को भारत सरकार की मंजूरी मिल चुकी है।

जानकारी के लिए बता दें कि यह एलिवेटेड कॉरिडोर रोड राजगीर की दक्षिणी दिशा में नालंदा जिले की सीमा रेखा से सटे नवादा और बाणगंगा पुल के बीच और उत्तर में राजगीर-बिहार शरीफ के बीच बनेगा. हालांकि हो की वन क्षेत्र में एक वन्यजीव चिड़ियाघर सफारी भी निर्माणाधीन है और पुरातत्व विभाग के ऐसे कई पर्यटन स्थल हैं। जिसके लिए अभी इस परियोजना को पुरातत्व विभाग और राज्य वन्यजीव बोर्ड से मंजूरी मिलनी बाकी है।

मिली जानकारी के अनुसार यह अंडरपास फोर लेन हाईवे भी एलिवेटेड कॉरिडोर रोड के नीचे से गुजरेगा. कुल 8.7 किमी (KM) कॉरिडोर के एलिवेटेड हिस्से की लंबाई 7.40 किमी होगी। इस प्रोजेक्ट के लिए 18 एकड़ जमीन के अधिग्रहण की योजना है। बताया जा रहा है कि इस पूरे प्रोजेक्ट के निर्माण को पूरा करने के लिए 30 महीने का लक्ष्य रखा गया है. इसके लिए इसी साल टेंडर करने की योजना है।

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here