Naini Mandir, Dwarkadhish Temple Naini Chhapra | नैनी मंदिर किस जगह पर स्थापित है | नैनी मंदिर का इतिहास | नैनी मंदिर की खास बात

0
1029

नैनी मंदिर किस जगह पर स्थापित है

छपरा शहर से 6 किलोमीटर की दूरी पर एनएच 331 के पास| छपरा से जलालपुर रोड मे स्थित है। यह मंदिर “Dwarkadhish” के नाम पर भी जाना जाता है। यदि आपको नही पता है तो गूगल मैप की मदद ले सकते है। Google Map (Naini Mandir, Dwarkadhish Temple Naini Chhapra)

नैनी मंदिर की खास बात

नैनी मंदिर आज के टाइम पर काफी चर्चित है। नैनी मंदिर में लोग काफी दूर दूर से पूजा करने अथवा देखने और घूमने आते है। आज के टाइम पर देखा जाए तो लोग हजारों भी ज्यादा लोग यहां आते है। जब कोई पूजन का दिन हो या तेवहार का दिन हो जबकि अन्य दिन 10,50,100 लोग रोजाना यहां आते है। ओर इसकी खास बात यह भी है। यहां रोजाना मेला की तरह ही रहता है। यदि आप भी आना चाहते है नैनी मंदिर कोई festival के दिन आए और मजा उठाए साथ ही मंदिर का दर्शन करे।

नैनी मंदिर का इतिहास

बिहार छपरा जिला द्वारिकाधीश मंदिर का निर्माण के नैनी गांव में हुआ है। जिसमें करीब 8 करोड़ से ज्यादा पैसा लग चुका है। बताया जाता है यह मंदिर 14 वर्षो में बनकर तैयार हुआ है। इस मंदिर को बनाने वाले कलाकार भी गुजरात के रहने वाले है। यह मंदिर नैनी गांव निवासी व अंबानी ग्रुप के सिम्पलेक्स के जीएम राजीव कुमार सिंह साथ ही पब्लिक की मदद से यह मंदिर बनाया गया है। मंदिर में लगने वाला सारा पत्थर गुजरात के सुरेन्द्र नगर से मंगवाया गया है। और धागढ़रा नाम के पत्थर इस्तेमाल किया गया है। खास बात यह है कि पूरा मंदिर पत्थर से ही बना हुआ है। मंदिर के संवेदक गुजरात निवासी एमबी पटेल ने बताया कि मंदिर में जो भी पत्थर लगाया गया है वह गुजरात के सुरेन्द्र नगर से मंगाए गये है। तारीख 11 मई 2005 से इस मंदिर को बनाने का काम शुरू किया गया था। और इसमें 20, 30 लोग रोजाना कम करते थे।

नैनी मंदिर में कोन कोन भगवान की मूर्तियां हैं

यह मंदिर गुजरात के द्वारिकाधाम मंदिर की तर्ज पर बने सारण के द्वारकाधीश मंदिर बने हैं। इसमें राधाकृष्ण के भगवान की मूर्ति साथ ही भगवान शिव माता पार्वती मां दुर्गा साथ ही गणेश बीर हनुमान की मूर्तियां स्थापित किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here